शेयर बाजार में शुरू हुई पानी की ट्रेडिंग, जानिए क्या है तरीका

शेयर बाजार में शुरू हुई पानी की ट्रेडिंग, जानिए क्या है तरीका

वाटर की ट्रेडिंग

सोना-चांदी, कॉपर, एल्युमीनियम जैसी कीमती धातुओं और कच्चे तेल की तरह ही अब पानी की ट्रेडिंग भी कमोडिटी मार्केट में शुरू हो गई है. पानी की कमी को देखते हुए वाल स्ट्रीट पर इसकी ट्रेडिंग शुरू की गई है

पानी कीमती संसाधन

दुनियाभर में पानी एक ऐसा संसाधन बनता जा रहा है, जिसकी कमी लगातार बढ़ रही है. अमेरिका के कैलिफोर्निया में सालों से पानी की कमी बनी हुई है और एशिया और अफ्रीका के बीच ज्यादातर हिस्से में तापमान बढ़ने के साथ पानी की किल्लत महसूस होने लगी है.

पानी की बढ़ती किल्लत

वाल स्ट्रीट पर किसान, निवेशक और नगर पालिका अब पानी की ट्रेडिंग कर सकेंगे. संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक साल 2050 तक दुनियाभर में पानी की कमी से करीब 5 अरब लोग प्रभावित होंगे. अमेरिका के कई इलाकों में बढ़ती गर्मी और जंगलों में आग लगने के बाद कैलिफोर्निया करीब 8 साल के सूखे से गुजर रहा था.

वाटर ट्रेड कॉन्ट्रेक्ट

अमेरिका के शिकागो की सीएमई ग्रुप ने इस वाटर ट्रेडिंग कॉन्ट्रैक्ट को लॉन्च किया है. एक रिपोर्ट में बताया गया है कि इस ग्रुप ने कैलिफोर्निया के 1.1 अरब डॉलर के स्पॉट मार्केट का करार किया है. सितंबर महीने में ही वाटर ट्रेडिंग शुरू किए जाने का ऐलान किया गया था. पिछले कुछ साल में कैलिफोनिर्या में पानी के दाम में कई गुना इजाफा हुआ है. पिछले हफ्ते 7 दिसंबर को पानी की ट्रेडिंग शुरू कर दी गई है.

पानी की ट्रेडिंग

कैलिफोर्निया स्पॉट वाटर के आधार पर सीएमई ग्रुप कॉन्ट्रैक्ट जारी करेगी. इसके लिए एक इंडेक्स भी तैयार कर लिया गया है, जिसका नाम रखा NQH2O गया है. सीएमई ग्रुप का कहना है कि नये एग्रीमेंट से पानी की कमी के प्रबंधन में मदद मिलेगी. चीन के बाद अमेरिका ही दुनिया में सबसे ज्यादा पानी की खपत करता है.

वाटर कंजम्पशन के आंकड़े

अमेरिका में हर रोज करीब 332 बिलियन गैलन पानी की खपत होती है. धरती पर करीब 71 फीसदी हिस्सा यानी करीब 32.6 करोड़ ट्रिलियन गैलन पानी ही है. धरती पर केवल 3.5 फीसदी पानी ही फ्रेश वाटर है. इसमें से 69 फीसदी ग्लेशियर के रूप में है. अन्य 30 फीसदी पानी जमीन के अंदर है. इस प्रकार 1 फीसदी पानी या 11.4 करोड़ बिलियन गैलन पानी से ही पूरी दुनियाभर में कृषि, औद्योगिक और आवासीय कामकाज चलता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *